पटना के बाद दरभंगा एयरपोर्ट पर भी एंबुलिफ्ट सेवा यात्रियों को उपलब्ध।

दरभंगा एयरपोर्ट पर भी पटना एयरपोर्ट के तर्ज पर एंबुलिफ्ट की सुविधा यात्रियों को उपलब्ध होगी। बताते चलें कि बीमार यात्रियों की सुविधा को लेकर दरभंगा एयरपोर्ट पर एंबुलिफ्ट पहुंच चुका है। इससे पहले पटना एयरपोर्ट पर एंबुलिफ्ट सेवा की शुरुआत की गई थी। इसका लाभ दिव्यांग और बुजुर्ग यात्री 100 रूपए शुल्क देकर उठा सकते हैं। वो यात्री जो बीमार और बुजुर्ग हो, जिन्हें फ्लाइट में चढ़ने में समस्या होती है।

एंबुलेंस और लिफ्ट का मिला-जुला स्ट्रक्चर

मालूम हो कि एयरपोर्ट पर कभी-कभार गंभीर रूप से बीमार यात्री भी आते हैं, जो लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर होते हैं। उन लोगों के लिए एंबुलिफ्ट सेवा बहाल होने के बाद वरदान साबित होगी। एंबुलिफ्ट एक ऐसी मशीन हैं, जिसे आप एंबुलेंस और लिफ्ट का मिला-जुला स्ट्रक्चर कह सकते हैं। जिसमें एक अटेंडेंट के अलावा दो व्हील चेयर एक स्ट्रेचर की क्षमता का हैं, जिसे जमीन से आठ मीटर ऊपर तक उठाया जा सकता है।

मरीजों को लगने वाले झटके का डर खत्म

एयरपोर्ट पर एंबुलिफ्ट को आपातकालीन चिकित्सा सहायता या निशक्तता की सहायता के लिए उपयोग में लाया जा सकता है। एंबुलिफ्ट ना होने की स्थिति में फ्लाइट में मरीजों को उतारने या चढ़ाने में झटका लगने का डर बना रहता है। लेकिन एंबुलिफ्ट की सुविधा उपलब्ध होने से सीरियस मरीज को भी फ्लाइट ले जाने में सहूलियत होगी। बिना किसी समस्या के मरीज को ऊंचाई तक एंबुलिफ्ट की मदद से ले जाया सकेगा।

पुल सह सड़क बनते ही एंबुलिफ्ट की सुविधा उपलब्ध

मालूम हो कि दरभंगा एयरपोर्ट उत्तर बिहार का इकलौता और सबसे व्यस्ततम एयरपोर्ट हैं। इसे बिहार का सबसे व्यस्ततम एयरपोर्ट भी कह सकते हैं, क्योंकि यात्रियों के मामले में दरभंगा ने पटना एयरपोर्ट को कड़ी टक्कर दे रही है। दरभंगा से हवाई सफर को लेकर केवल मिथिलांचल ही नहीं बल्कि सीमांचल, कोशी और नेपाल के लोग भी पहुंचते हैं। एंबुलिफ्ट की सेवा बहाल होने से उन यात्रियों को काफी राहत मिलेगी जो सीरियस कंडीशन में हवाई यात्रा करने को मजबूर होते हैं। एयरपोर्ट डायरेक्टर के अनुसार पुल सह सड़क बन जाने के बाद दरभंगा एयरपोर्ट पर एंबुलिफ्ट की सुविधा यात्रियों को उपलब्ध हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.