खोज करे
  • DARBHANGA CITY

24 घंटे में कोरोना के करीब 50 हजार नये मामले, देश में फिर लॉकडाउन?


देश में कोरोना केस में तेजी से उछाल आ रहा है। बता दें कि 24 घंटे में कोरोना के लगभग पचास हजार मामले सामने आये हैं। कोरोना संक्रमण की रफ़्तार अचानक से बढ़ते देख सरकार सहित लोगों को चिंता में डाल दिया है। मालूम हो कि पिछले वर्ष 22 मार्च को पीएम नरेंद्र मोदी के आह्वान पर जनता कर्फ्यू लगा था, और यह महीनों भर चले लॉकडाउन जैसा था। बता दें कि उस समय कोरोना के 360 केस ही सामने आये थे, और पीएम मोदी ने लोगों से जनता कर्फ्यू की अपील की थी। जनता ने भी कर्फ्यू को पूरा समर्थन दिया था।


महाराष्ट्र में कोरोना केस के सबसे अधिक मामले


कोरोना के बढ़ते मामलों से लोगों के समक्ष एक बार फिर से वही भय समा गया है। जब सड़कों पर वीरानी छाई हुई थी। लोग खौफजदा थे। हर तरफ पाबंदियां ही पाबंदियां थी। बीते दिनों को याद कर लोगों के रोएं सिहर जाते हैं। बता दें कि कोरोना की नई लहर पिछले साल से भी अधिक कहर बरपा सकती है। देश के 6 राज्यों में स्थिति काफी विस्फोटक होती जा रही है। इसमेें महाराष्ट्र, पंजाब, केरल, कर्नाटक, गुजरात और मध्यप्रदेश में देश के कुल कोरोना केसों के 86 फीसदी मामले हैं।


बिगड़ते हालात को लेकर लौट सकती है सख्ती


महाराष्ट्र, पुणे और नागपुर कोरोना के हॉटस्पॉट बनकर उभर रहे हैं। अभी तक जनता कर्फ्यू और लॉकडाउन जैसी पाबंदियां नहीं लगाई गई है, परन्तु हालात देख कुछ भी कहना मुश्किल है। पंजाब के 11 शहरों में नाईट कर्फ्यू, राजस्थान में बाहरी आदमी को कोरोना रिपोर्ट के साथ इंट्री, तो वहीं मध्यप्रदेश में भोपाल और इंदौर में नाइट कर्फ्यू, गुजरात के अहमदाबाद, वडोदरा, राजकोट और सूरत में नाइट कर्फ्यू लगाने के साथ सरकारी बसों के संचालन पर रोक लगा दी गई है। यूपी सरकार ने दिल्ली से सटे नोएडा और गाजियाबाद जैसे महानगरों में धारा-144 लागू कर दी है, जिससे भीड़ को नियंत्रित किया जा सकें। देश में कोरोना को लेकर अभी तक कोई ऐलान नहीं जारी किया गया है, लेकिन बिगड़ते हालात को लेकर सख्ती के दिन फिर से लौट सकते हैं।

2532 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें