खोज करे
  • DARBHANGA CITY

भारतमाला परियोजना के अंतर्गत बनने वाली असम-दरभंगा 6 लेन सड़क से एयरपोर्ट-एम्स की सीधी कनेक्टिविटी।


भारतमाला परियोजना के अंतर्गत बनायी जाने वाली असम-दरभंगा 6 लेन सड़क को करीब 6000 करोड़ की लागत से चार पैकेज में निर्माण कार्य किया जाना है। जहां उच्चैठ भगवती स्थान (उमगांव) से महिषि तारा स्थान सड़क जिसे लगभग 3000 करोड़ की लागत से 5 पैकेज में बनाया जाना है। वहीं इसी परियोजना के अंतर्गत भेजा में कोसी नदी पर भारत की सबसे बड़ी पुल के निर्माण की योजना बनाई गई है। इस सब को लेकर स्थानीय सांसद ने एनएचएआई के परियोजना निदेशक एवं उपप्रबंधक के साथ दरभंगा सहित मिथिला के अलग-अलग क्षेत्रों में बन रही और भविष्य में बनाई जाने वाली सड़क परियोजनाओं की समीक्षा बैठक की।


खुलेंगे विकास के द्वार



सांसद ने इस समीक्षा बैठक में पीएम एवं सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री का आभार जताते हुए कहा कि इस महत्वपूर्ण परियोजनाओं के पूरा होने के साथ मिथिला की आर्थिक उन्नति का मार्ग खुलेगा। तथा असम-दरभंगा एक्सप्रेस-वे से फ्लाई ओवर के माध्यम से दरभंगा एयरपोर्ट एवं एम्स की सीधी कनेक्टिविटी होगी। वहीं इससे दरभंगा शहर में जाम की समस्या भी लगभग खत्म हो जाएगी। दरभंगा शहर के पश्चिम दिशा में असम-दरभंगा एक्सप्रेस-वे को राष्ट्रीय राजमार्ग-5 में मिलाएं जाने के लिए रिंग रोड निर्माण को लेकर उक्त विभागीय को पत्राचार किया था, जिसका सकारात्मक उत्तर आया है, तथा इसको लेकर डीपीआर तैयार करने का निर्देश भी जारी किया गया है।


साथ ही इन सड़कों की विस्तृत समीक्षा



इसके साथ ही बैठक में दरभंगा-सहरसा-पूर्णिया फोरलेन सड़क, गंडोल से भेजा, दरभंगा के दोनार से कुशेश्वरस्थान स्टेट हाइवे को राष्ट्रीय राजमार्ग में बदलने, लहेरियासराय-कुशेश्वरस्थान भाया बहेड़ी को भी एन एच में मिलाने, एनएच-31 को बेगुसराय से एनएच-57 सकरी में जोड़ने, दरभंगा अशोक पेपर मिल से फेकला चिकनी विदेश्वर स्थान एनएचएआई सड़क निर्माण, दरभंगा-सीतामढ़ी फोरलेन एनएचएआई सड़क, दरभंगा से भागलपुर एनएचएआई सड़क आदि सड़कों की भी विस्तृत समीक्षा की गई।

5302 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें