खोज करे
  • DARBHANGA CITY

बिहार में बस का सफर हुआ मंहगा, जाने कितना बढ़ा किराया।



बिहार में बस से सफर करना अब मंहगा होगा। बताते चलें कि पेट्रोल-डीजल के दाम में लगातार बढ़ोतरी के बाद परिवहन विभाग ने बसों का किराया 67 फीसदी बढ़ा दिया है। पेट्रोल-डीजल की दरों में बेहताशा वृद्धि को लेकर बस संचालकों द्वारा लगातार किराया बढ़ाये जाने की मांग की जा रही थी। इसको लेकर परिवहन विभाग ने बीते माह ने नोटिफिकेशन जारी किया था, जिसमें इसपर आम लोगों से सुझाव एवं आपत्ति मांगा गया था। लेकिन इसपर लोगों ने ना तो कोई सुझाव एवं आपत्ति प्रकट किया।



वर्ष 2018 के बाद बसों का नया दर तय किया गया है। आम लोगों से इसपर कोई आपत्ति नहीं जताये जाने के बाद परिवहन विभाग ने 2018 में पारित आदेश में बदलाव करते हुए बसों का नया किराया निर्धारित कर दिया है। बसों के शुरू होने से लेकर यात्रा की समाप्ति वाले जगहों का किराया राज्य एवं क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकार द्वारा तय किया जाएगा। जहां लंबी दूरी की बसों में भाड़े की गणना पहले 100 किलोमीटर तक उस श्रेणी के बेसिक भाड़ा दर के आधार पर होगी। 101 से 250 किलोमीटर की दूरी तक के निर्धारित किराए में 20 फीसदी की कमी तो वहीं 251 किलोमीटर से अधिक होने पर बेसिक भाड़ा में 30 फीसदी की कमी की जाएगी। जिसके तहत अब सामान्य बसों का किराया न्यूनतम डेढ़ रुपए प्रति किमी होगा। एसी बसों का अधिकतम किराया ढ़ाई रूपए प्रति किमी होगा।



जिला प्रशासन को निर्देश दिया गया है जिसमें वह बसों का किराया सभी सार्वजनिक स्थानों पर प्रदर्शित करें। निर्धारित भाड़े का दर अधिकतम हैं और इस दर से अधिक भाड़ा वसूल नहीं किया जाएगा। वही बस में शिकायत पंजी भी रखनी होगी। भाड़े में वृद्धि को लेकर बिहार मोटर ट्रांसपोर्ट फेडरेशन के प्रदेश अध्यक्ष ने ये सफाई दी है कि मंहगाई को देखते हुए सरकार ने बसों का किराया बढ़ाया है।

1346 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें