खोज करे
  • DARBHANGA CITY

बिहार में बुलेट ट्रेन चलने का सपना जल्द होगा साकार, कार्य शुरू।


बिहार के बुलेट ट्रेन चलने का सपना जल्द ही हकीकत में बदलने वाला है। बताते चलें कि वाराणसी-हावड़ा हाइस्पीड रेल को लेकर सर्वे का कार्य शुरू कर दिया गया है। जिसमें बिहार सर्वे करने वाली कंपनी झारखंड के गिरीडीह जिले में अपना काम शुरू कर चुकी है। दरअसल गिरीडीह के बगोदर से होकर बुलेट ट्रेन ले जाने की योजना बनाई गई है। यह रेल लाइन 760 किलोमीटर लंबी होगी, जो बिहार के पटना, झारखंड में धनबाद और बंगाल में वर्द्धमान होते हुए चलेगी।


पटना से बुलेट ट्रेन चलने से बड़ी आबादी को लाभ



बताते चलें कि वाराणसी से दिल्ली के बीच हाइस्पीड रेल नेटवर्क का काम पहले ही तेजी से किया जा रहा है। जहां दोनों रूटों पर कार्य पूर्ण होने के बाद दिल्ली से हावड़ा की दूरी काफी कम हो जाएगी। मालूम हो कि पीएम मोदी से दिल्ली-वाराणसी बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट को पटना तक विस्तार देने की मांग लोगों द्वारा की गई थी। जहां अब इस प्रोजेक्ट का काम पहले पूरा होने की संभावना है। व्यवसायियों के अनुसार बुलेट ट्रेन से पटना को जोड़े जाने से बड़ी आबादी को लाभ होगा, तथा इससे राज्य में वाणिज्यिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा।


5 माह के भीतर कार्य पूरा



साथ ही जानकारी देते चले कि वाराणसी-हावड़ा हाइस्पीड रेल नेटवर्क के लिए सामाजिक प्रभाव और पुनर्वास पर होने वाले खर्च के सर्वे का कार्य टीला कंसल्टेंट्स एंड कॉन्ट्रैक्टर्स प्रा.लि. के कंसोर्टियम को दिया गया है। वहीं नेशनल हाइस्पीड रेल कारपोरेशन लिमिटेड इस प्रोजेक्ट के लिए डीपीआर बनाने में लगी है। साथ ही इस रूट को लेकर रेलमार्ग के एरियल सर्वे का काम अन्य एजेंसी को सौंपा गया है। यह कार्य लगभग पांच महीने के भीतर पूरा कर लिया जाना हैं। जिस रफ्तार से इस प्रोजेक्ट पर कार्य चल रहा है, जब वह दिन दूर नहीं बिहार के लोग भी बुलेट ट्रेन से यात्रा का लुत्फ उठा सकेंगे।

1583 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें