खोज करे
  • DARBHANGA CITY

कोरोना के नये वैरिएंट 'अमिक्रोन' को लेकर बिहार में हाई लेवल की बैठक।


कोरोना का नया वैरिएंट 'अमिक्रोन' तेजी से बढ़ रहा है। इसको लेकर बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हाई लेवल की मीटिंग रविवार को बुलाई। जहां मीटिंग के बाद राज्य सरकार ने बिहार में अलर्ट जारी कर दिया है। बता दें कि बिहार के सभी जिलों के सिविल सर्जन और मेडिकल अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि इसको लेकर विशेष सावधानियां बरती जाए। जहां अगर कही भी कोविड रूटीन चेकअप के दौरान विशेष जानकारी या सूचना मिले तो तुरंत इसकी खबर स्वास्थ्य मुख्यालय में दी जाए।


सभी जिलों के अस्पताल अलर्ट पर



बता दें कि दूसरे देशों में कोरोना के नये वैरिएंट'अमिक्रोन' को लेकर राज्य स्वास्थ्य समिति की तरफ से सभी जिलों को अलर्ट रहने का निर्देश दिया है। मुख्यालय की ओर से जारी दिशा-निर्देश में कहा गया है कि बिहार में जितने भी आरटीपीसीआर लैब हैं वहां ज्यादा से ज्यादा कोरोना जांच पर फोकस किया जाए। कोविड जांच को लेकर किसी भी तरह की कोताही नहीं बरती जाएगी।


लगातार कोविड जांच



कोरोना के नये वैरिएंट 'अमिक्रोन' तेजी से पांव पसार रहा है। बता दें कि इससेे कोरोना को लेकर एक बार फिर से चिंता बढ़ा दी है। बिहार भी इससे अछूता नहीं रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना से ग्रस्त देशों से बिहार लौटने वाले लोगों की खोजबीन शुरू कर दी है। स्वास्थ्य विभाग ने सभी सिविल सर्जन को आदेश दिया है जिसमें बाहर से आने वाले लोगों की तलाश कर जांच कराई जाए। बिहार के एड्रेस पर बनाये गए पासपोर्ट के आधार पर दूसरे देश से लौटने वाले लोगों की सूची बिहार को भेजी गई है। जहां विदेश से आने वालों की जांच सही ढ़ंग से करने का निर्देश हैं। साथ ही बता दें कि पटना जंक्शन, दानापुर और एयरपोर्ट पर सिविल सर्जन के निर्देश पर बनायी गई टीम और अधिक सतर्कता बरतने जा रही है। जिसमें विदेश से कनेक्टिंग फ्लाइट से पटना आने वाले यात्रियों की जांच हर स्थिति में कराई जाएगी। विदेश से लौटे व्यक्ति अगर पीएमसीएच, आइजीआइएमएस, एनएमसीएच समेत बिहार के सभी छोटे-बड़े अस्पतालों में अगर कोई मरीज भर्ती किए जाते हैं तो पहले उनकी कोरोना जांच होगी।

397 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें