खोज करे
  • DARBHANGA CITY

जिस ट्रेन में मधुबनी के इतने संक्रमित, उसी ट्रेन से दरभंगा उतरने वाले एक भी यात्रियों में कोरोना नही



दिल्ली-मुंबई समेत अन्य राज्यों से आने वाली ट्रेनों में मधुबनी के करीब 60 से भी ऊपर यात्रियों में संक्रमित व्यक्ति के मिलने की पुष्टि हुई है। बता दें कि यहीं ट्रेन दरभंगा जंक्शन होते हुए मधुबनी, जयनगर जाती है। लेकिन दरभंगा जंक्शन पर कोरोना का एक भी मामला नहीं मिलना काफी हैरान कर रहा है। इससे साफ जाहिर होती है कि दरभंगा जंक्शन पर बाहर से आने वाले ट्रेन के यात्रियों की कोरोना जांच की सिर्फ औपचारिकता पूरी की जा रही है।


तीसरी लहर की बढ़ी आशंका



दरभंगा जंक्शन पर कोरोना को लेकर बरती जा रही लापरवाही से इंकार नहीं किया जा सकता है। जंक्शन पर आने वाले लोगों का थर्मल स्क्रीनिंग नहीं किया जाता है। जिधर देखो उधर बेमक़सद भी लोग घूमते हुए नजर आते हैं। वहीं ट्रेनों की बोगियों में वेटिंग वाले भी आराम से सफर कर रहे हैं, और इनको रोकने वाला भी कोई नहीं है। संभावित कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को लेकर लोगों में भय हैं।


दरभंगा जंक्शन पर कोरोना जांच में गोलमाल



पिछले दो दिनों में जिस तरह मधुबनी में अन्य राज्यों से आने वाले यात्रियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है, उससे तीसरी लहर की शुरुआती स्थिति भी मानी जा रही है। इसके साथ ही लोगों के मन में बार-बार यही सवाल कौंध रहा है कि बाहर से आने वाली जिन ट्रेनों में इतने संक्रमित व्यक्ति मिले हैं, उसी ट्रेन से दरभंगा जंक्शन पर उतरने वाले एक भी यात्रियों में संक्रमण नहीं पाया जाना काफी आश्चर्य की बात है। इसको लेकर दरभंगा जंक्शन पर होने वाली कोरोना जांच को लेकर लोगों के मन मे संशय की स्थिति बनी हुई है। उनके अनुसार अगर दरभंगा जंक्शन पर भी सही तरीके से कोरोना जांच की जाए तो यहां भी कोरोना विस्फोट हो सकता है। इसका कारण यह भी है कि मधुबनी-जयनगर की अपेक्षा दरभंगा जंक्शन पर अधिक ट्रेनें आवाजाही करती है।

1022 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें