खोज करे
  • DARBHANGA CITY

दरभंगा एम्स निर्माण को लेकर प्रशासनिक स्तर पर पहल तेज।


दरभंगा में उत्तर बिहार के एम्स का शिलान्यास को लेकर जिला प्रशासन द्वारा एम्स के निर्माण को लेकर एक और कदम बढ़ गया है। बताते चलें कि इसको लेकर दरभंगा जिला प्रशासन ने अस्पताल के लिए चिन्हित 200 एकड़ जमीन का विवरण राजस्व विभाग को भेज दिया है। जिसके बाद चिह्नित जमीन को एम्स निर्माण के लिए हस्तांतरित कर दिया जायेगा ।


केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री अश्विनी चौबे कर चुके हैं एम्स स्थल का निरीक्षण


दरभंगा AIIMS में सत्र 2021-22 से 50 सीटों पर MBBS की पढ़ाई शुरू हो जाएगी। यह घोषणा केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने दरभंगा में की। इस दौरान उन्होंने DMCH परिसर में दरभंगा एम्स के प्रस्तावित स्थल का निरीक्षण करने के साथ ही यहां केंद्र और राज्य सरकार के अधिकारियों के साथ एम्स निर्माण को लेकर बैठक भी की थी। उन्होंने कहा कि बिहार के सभी लोगों को कोरोना की वैक्सीन मुफ्त में दी जाएगी। वहीं एम्स का शिलान्यास प्रधानमंत्री के द्वारा किये जाने की संभावना है।


750 बेड के इस एम्स के लिए 1264 करोड़ रुपए


बताते चलें की 4 साल के भीतर एम्स को तैयार करने की योजना है, जिसमें एमबीबीएस की पढ़ाई भी जल्द शुरू करायी जायेगी। बताते चलें की दरभंगा एम्स पटना के बाद बिहार का दूसरा एम्स होगा। 750 बेड के इस एम्स के लिए 1264 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए हैं। दरभंगा में बनने वाले एम्स में 100 सीटें एमबीबीएस के लिए , तो वही 60 बीएससी नर्सिंग सीटें जुड़ेंगी। 750 बिस्तरों का एम्स उत्तर बिहार के कई ज़िलों के साथ नेपाल की स्वास्थ्य संबंधित जरूरतों को पूरा करेगा, जहां प्रतिदिन लगभग 2,000 ओपीडी मरीजों की इलाज की सुविधा उपलब्ध होगी।


दरभंगा एम्स बनने से मिलेगी बेहतर मेडिकल सुविधा


उत्तर बिहार में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के साथ साथ स्थानीय तौर पर रोजगार का संभावनाओं के सृजन में भी नये अस्पताल की अहम भूमिका मानी जा रही हैं। बताते चलें की दरभंगा एम्स को पहले ही प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में हुई केन्द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में मंज़ूरी मिल चुकी है। इसके साथ दरभंगा एम्स के लिए डायरेक्टर का पद भी केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा सृजित किया जा चुका है। दरभंगा एम्स बनने से ना केवल उत्तर बिहार बल्कि नेपाल तक के लोगों को भी फायदा होगा। इसमें बेतिया से लेकर कोसी और सीमांचल के सहरसा, सुपौल और पूर्णिया तक के लोगों को भी बेहतर मेडिकल सुविधा मिलेगी।

482 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें