खोज करे
  • DARBHANGA CITY

दरभंगा एम्स निर्माण कार्य में लेट-लतीफी को लेकर वार्ता।

दरभंगा में प्रस्तावित एम्स के निर्माण में हो रही देरी के बीच दरभंगा के सांसद गोपाल जी ठाकुर ने केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा रसायन एवं उर्वरक मंत्री मनसुख मंडाविया से मुलाकात की। मालूम हो की 2015 से बिहार में प्रस्ताव दूसरे एम्स के निर्माण का कार्य अब तक शुरू नहीं किया जा सका है। जिस बीच सांसद की यह मुलाकात अहम मानी जा रही है। जहां सांसद ने दरभंगा में बनने वाले एम्स के निर्माण कार्य में हो रही देरी से केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को अवगत कराया। बताते चले की एम्स निर्माण शुरू होने से पहले राज्य सरकार को लैंड में मिट्टीकरण, जलनिकासी की उचित व्यवस्था, एम्स तक फोरलेन कनेक्टिविटी आदि मुहैया करा कर देना है। जिस पर राज्य सरकार द्वारा अब तक कोई ठोस कार्य नहीं किया जा सका है।


एम्स शुरू होने की संभावना दूर-दूर तक नहीं



दरभंगा में प्रस्तावित एम्स के निमार्ण कार्य में हो रहे विलंब के बीच राज्य सरकार के ढ़ीले रवैये के कारण अब तक इसका निर्माण कार्य नहीं शुरू हो पाया है। जहां ना तो इसके फोरलेन कनेक्टिविटी पर ज़मीनी कार्य पूरा किया जा सका है, ना ही एम्स के निर्माण के पूर्व भूमि को समतल किया जा रहा है। जिसके तहत निचले भूखंडों पर मिट्टी की भराई कराई जानी है। इसके साथ ही एम्स के लिए 20 मेगावॉट बिजली आपूर्ति की व्यवस्था भी सुनिश्चित करायी जानी है। फ़िलहाल इन बिंदुओं के पूरा होने के बाद पहले चरण में 75 एकड़ ज़मीन एम्स को स्थानांतरित किया जायेगा। इससे पूर्व इसके दायरे में आने वाले सरकारी कार्यालयों एवं परिसर को भी यहाँ शिफ़्ट कराया जाना है। जिस पर फ़िलहाल धीमी गति से कार्य होता दिख रहा, जिस से एम्स निर्माण के निकट भविष्य में शुरू होने की संभावना दूर दूर तक नहीं दिख रहीं।


एम्स का सपना फिलहाल फाइलों तक ही सीमित



इसी बीच सांसद ने दरभंगा में बनने वाले एम्स निर्माण कार्य में हो रही देरी से केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को अवगत कराया। जहां उन्होंने एम्स निर्माण कार्य यथाशीघ्र शुरू करने का मंत्री से अनुरोध किया। मुलाक़ात में सांसद ने राज्य सरकार द्वारा प्रस्तावित स्थल पर लो लैंड में मिट्टीकरण, जलनिकासी की उचित व्यवस्था, एनएच 57 फोरलेन से कनेक्टिविटी आदि की दिशा में पहल करने का आग्रह किया।फ़िलहाल देखने की बात है की एम्स निर्माण पर आ रही बाधाएं इस मुलाक़ात के बाद कितनी जल्द दूर होती हैं, जहां कब तक उत्तर बिहार में एम्स के निर्माण का सपना फ़ाइलों से निकल कर ज़मीन पर साकार होता है।

614 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें