खोज करे
  • DARBHANGA CITY

दरभंगा को उत्तर बिहार के इस शहर से रेलवे से जोड़ने के लिए बजट में मिले मात्र 1000 रूपये।

दरभंगा से जुड़ी कई रेल परियोजना को लेकर सरकार ने दिल खोल कर धन का आवंटन किया, तो कुछ परियोजना पैसों के मोहताज रह गये। जहां दरभंगा- फारबिसगंज परियोजना को 250 करोड़ रूपये बजट मे दिये गये, तो दरभंगा रेल बाईपास को भी 100 करोड़ आवंटित किया गया हैं। वही कुछ परियोजना ऐसी भी रही जिन्हें रेल बजट में हजार रूपये ही मिल सके, जिसने इन परियोजना के भविष्य पर सवाल खड़े कर दिये है।



ऐसा ही एक परियोजना के तहत दरभंगा से मुजफ्फरपुर के बीच नयी रेल लाइन का शिलान्यास लालू प्रसाद यादव ने रेल मंत्री रहते हुए किया था। इस परियोजना के शिलान्यास के बाद से ही इस पर आज तक सरकार की नज़रें इनायत ना हो सकी है, वही इसके निर्माण राशि की लागत समय के साथ कई गुणा बढ़ चुकी हैं। इस साल के रेल बजट में भी केन्द्र सरकार ने पिछले वर्षों के तरह दरभंगा- मुजफ्फरपुर रेल लाइन के लिए एक हज़ार रूपये का आवंटन कर, फ़ाइलों में इस परियोजना को जिंदा रखा है। मालूम हो की दरभंगा मुजफ्फरपुर रेल लाइन की माँग आज़ादी से पहले से होते आयी है, जिससे दोनों शहरों के बीच की दूरी में कमी आयेगी। इस रेल लाइन को लेकर सर्वे का काम बहुत पहले पूरा किया जा चुका है, योजना की प्रारंभिक लागत 282 करोड़ थी।



वही खगड़िया कुशेश्वरस्थान 44 किलोमीटर नयी लाइन को भी बजट में 1000 रूपये का आवंटन किया गया। मालूम हो सकरी कुशेश्वरस्थान हो कर यह लाइन खगड़िया को दरभंगा से सीधे जोड़ेगी। इसके निर्माण से दरभंगा और खगड़िया ना सिर्फ़ सीधे जुड़े जायेगे, साथ ही खगड़िया से लोगों को दरभंगा से हवाई सेवा का विकल्प भी मिलेगा। इस परियोजना की नींव राम विलास पासवान ने रेलमंत्री रहते हुए रखी थी और परियोजना के तहत अपतक खगड़िया से 14 किलोमीटर का दूरी तक ही रेल लाइन बिछायी गयी है।





1186 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें

DEDICATED FOR DARBHANGA 

1.32 Million Viewes 

WEEKLY NEWSLETTER 

© 2020 BY DARBHANGA CITY. PROUDLY CREATED WITH NET8.IN