खोज करे
  • DARBHANGA CITY

दरभंगा जंक्शन पर पार्सल ब्लास्ट के तार जुड़े विदेश से।


दरभंगा जंक्शन पर पार्सल ब्लास्ट की जांच में रोज-रोज नये सुराग हाथ लग रहे हैं, जिसने देश की सुरक्षा एजेंसियों को चौंकना कर दिया है । बताते चलें कि दरभंगा जंक्शन पर सिकंदराबाद-दरभंगा एक्सप्रेस में कपड़ों से भरा पार्सल, ब्लास्ट कर गया था। हालांकि इसमें जान-माल की क्षति नहीं हुई, पर इसने देश में दरभंगा को एक बार फिर सुर्ख़ियों में ला दिया। इस धमाके जिस विस्फोटक सामग्री से धमाका हुआ था, उसकी जांच में बिहार एटीएस के साथ तमिलनाडु और उत्तर प्रदेश का आतंकवाद निरोधी दस्ता भी लगा हुआ है।



घटना की जाँच जारी


दरभंगा जंक्शन पर पार्सल ब्लास्ट में मो॰ सुफियान का नाम सामने आने के बाद बड़ी जांच एजेंसियां उसकी तलाश में जुटी है। वही इस धमाके के पीछे बड़ी साज़िश की बू आ रही है, अभी तक के जाँच में इस धमाके के पीछे चार संदिग्धों की भूमिका बताई जा रही है, जिसमें दो संदिग्ध विदेश और दो भारत से हैं। मामले की तह तक जाने के लिए खुफिया एजेंसी अपने नेटवर्क के जरिए लगी है।



पाकिस्तान से जुड़े है तार


हालांकि इस मामले के तार विदेश से जुड़े होने और अति संवेदनशील होने के कारण अधिकारी इसको ले कर गोपनीयता बरत रहे हैं। वही कपड़े के पार्सल में जो शीशी मिली थी, उसमें कुछ केमिकलों के इस्तेमाल की बात सामने आयी है। विस्फोटक सामग्री को कपड़े की आड़ में संदिग्धों तक भेजा जा रहा था। वही पार्सल ब्लास्ट में मो॰ सुफियान का नाम आने के बाद जांच एजेंसियों के कान खड़े हो गए हैं। कारण बता दें कि ये वही मो॰ सुफियान है जो पाकिस्तान में आतंकी ट्रेनिंग ले चुका है। और आतंकी कनेक्शन को लेकर साल 2016 से उसकी तलाश की जा रही है। वही दरभंगा जंक्शन पर हुए धमाके में इस्तेमाल की गयी केमिकल की जाँच जारी है । मालूम हो की धमाके में बरामद शीशी को जांच के लिए हैदराबाद सीएफएसएल भेजा जाएगा।

574 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें