खोज करे
  • DARBHANGA CITY

दरभंगा में एम्स का सपना पूरा, बेहतर मेडिकल सुविधा जल्द लोगों को उपलब्ध।


दरभंगा में एम्स का सपना साकार होने की तरफ बढ़ा एक कदम, जहां एम्स के निर्माण को लेकर मिट्टीकरण के साथ लो लैंड एरिया की भराई कर एम्स निर्माण के पहले चरण के लिए आवश्यक ज़मीन को तैयार कर, जलजमाव से मुक्त कराया जायेगा। दरभंगा में एम्स का सपना अब धरातल पर आकार लेने की शक्ल में एक कदम आगे बढ़ा हैं। जी हां, लंबे समय से अटकी पड़ी दरभंगा में एम्स निर्माण का कार्य जल्द ही जोर पकड़ने लगेगा । मालूम हो कि डीएमसीएच परिसर में प्रस्तावित एम्स निर्माण स्थल पर मिट्टी भराई एवं समतलीकरण के लिए निविदा प्रक्रिया शुरू दी गई है। जहां 21 सितंबर तक निविदा डालने की अंतिम तिथि निर्धारित की गई है। बताते चलें कि यह निविदा बिहार मेडिकल सर्विसेज एण्ड इन्फ्रास्ट्रक्चर कोरपोरेशन (BMSICL) ने निकाली हैं। इसके तहत 75 एकड़ भूखंड पर मिट्टी भराई एवं समतल का काम किया जाएगा। पहले चरण के तहत इस कार्य पर 12 करोड़ 41 लाख 35 हजार रूपए खर्च किए जाएंगे।



इस काम को तीन महीने में पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जहां एम्स निर्माण कार्य में सरकार ने प्रकिया शुरू कर एम्स के निर्माण का रास्ता साफ कर दिया है। बता दें कि एम्स के चाहारदीवारी निर्माण और जमीन के समतलीकरण का जिम्मा बिहार सरकार के अधीन है। अब जबकि इसके निर्माण कार्य का रास्ता साफ हो गया है तब जमीन समतलीकरण के बाद वहां पुराने भवनों को ध्वस्त करने का काम शुरू किया जाएगा। साथ ही एम्स के लिए चिन्हित जमीन का घेराव भी किया जा सकेगा। वही इसके अलावा एम्स की राष्ट्रीय राजमार्ग 27 से फ़ोर लेन कनेक्टिविटी भी तैयार की जायेगी। जिसके तहत एम्स को आमस-दरभंगा एक्सप्रेस वे से जोड़ने का कार्य भी राज्य सरकार द्वारा पूरा किया जायेगा।


दरभंगा की पहचान देश के मानचित्र पर अंकित


दरभंगा में एम्स बनने का सपना संजोए लोगों का सपना अब सपना ही नही रहेगा, बल्कि ये बहुत जल्द धरातल पर आकार लेगा‌। मालूम हो कि दरभंगा में एम्स बनने से बिहार के 24 जिलें लाभान्वित होंगे। साथ ही नेपाल के तराई क्षेत्र से लेकर बंगाल के सीमावर्ती इलाकों के लोग भी दरभंगा एम्स में बेहतर मेडिकल सुविधा का लाभ उठा पायेंगे। दरभंगा एयरपोर्ट के बाद एम्स शुरू होने से मेडिकल टूरिज्म को बढ़ावा मिलेगा। मिथिला में रोजगार के नये अवसर उपलब्ध होंगे, वहीं नेशनल हाइवे से फोरलेन एवं एलिवेटेड रोड से एम्स के जुड़ने के बाद यातायात सुगम हो जाएगी। इसके साथ ही दरभंगा की पहचान देश के मानचित्र पर प्रमुखता से अंकित होगी।


लोगों में जगी उम्मीद की नई किरण


बता दें कि पिछले कई दिनों से दरभंगा में एम्स निर्माण कार्य की प्रकिया शुरू करने के लिए छात्र संगठन मिथिला स्टूडेंट यूनियन संघर्षरत थे। वहीं इसके साथ ही एमएसयू ने ये भी ऐलान किया था कि दरभंगा में 08 सितंबर को प्रतीकात्मक शिलान्यास किया जाएगा। वही टेंडर की प्रक्रिया शुरू होने से लोगों में उम्मीद की नई किरण जागी है।

714 व्यूज0 टिप्पणियाँ