खोज करे
  • DARBHANGA CITY

कोरोना ने मचाई तबाही, दरभंगा में नौं संक्रमितों की डीएमसीएच में मौत।


कोरोना का नया स्ट्रेन तेजी से लोगों को अपनी जद में ले रहा है। बताते चलें कि इससे बिहार भी अछूता नहीं रहा है। बल्कि बिहार की राजधानी पटना में जिस तरह संक्रमण का दायरा और आंकड़ों में वृद्धि हो रही है, मामला गंभीर होता जा रहा है। दरभंगा में भी कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। शुक्रवार को डीएमसीएच में नौं संक्रमित की मौत हुई, जिसमें दरभंगा में चार के अलावा सुपौल, समस्तीपुर, सहरसा, मधेपुरा और बेगूसराय के भी एक-एक मरीज थे।


सोशल डिसटेंसिंग की उड़ी धज्जियां


मालूम हो कि सीएम साइंस कॉलेज में तीन कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए गये है, तो वहीं ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय में 6 कर्मियों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। जिसके बाद विश्वविद्यालय को 25 अप्रैल तक बंद रखने का आदेश निर्गत किया गया है। कोरोना से मृत्यु दर में इजाफा होता जा रहा है, जिससे लोगों में भय का माहौल बना हुआ है। परन्तु दूसरी ओर शहर में जिस तरह सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई जा रही है, उससे संक्रमण और विस्फोटक हो सकता है।


कड़े से कड़े नियम हो लागू


बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनजर बिहार सरकार ने नयी गाइडलाइन भी जारी की हुई है, पर इसका लोग बिलकुल भी पालन नहीं कर रहे हैं। शादी-विवाहों में बिना मास्क लगाएं सड़कों पर नाच-गाने के नजारे देखे जा रहे हैं, कोरोना से बेपरवाह लोग भीड़ इकट्ठी करते हैं। जहां आसानी से संक्रमण खतरा बढ़ सकता है। प्रशासन को इस मामले में हस्तक्षेप करने की जरूरत है, जहां भीड़ इकट्ठी करने पर कड़े से कड़े नियम बनाया जाएं, जिससे लोग ये करने से परहेज़ करें।

3103 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें