खोज करे
  • DARBHANGA CITY

दरभंगा जंक्शन पर पार्सल में धमाका की जांच में जुटी तेलंगाना एटीएस।


दरभंगा जंक्शन पर हुए धमाके की गुत्थी को सुलझाने के लिए बिहार एटीएस के साथ अब तेलंगाना एटीएस भी जुट गई है। बताते चलें की दरभंगा जंक्शन पर दो दिन पहले, सिकंदराबाद-दरभंगा एक्सप्रेस से उतारे गया पार्सल में जोर का धमाका हुआ था। धमाके के बाद जाँच में सिकंदराबाद से बुक किये गये कपड़े के पार्सल में एक छोटी सी शीशी मिली, जिसका ढ़क्कन धमाके में उड़ गया था। बता दें कि इस धमाके में किसी प्रकार का नुक़सान नहीं हुआ, लेकिन इस घटाना ने सुरक्षा एजेंसियो को चौकना कर दिया है। धमाका किस विस्फोटक सामग्री से हुआ और इसके पीछे की मंशा जाँच के अहम बिंदुओं में से अब एक है।


सीसीटीवी फुटेज चेक



वही अब तक के जाँच से से जो खबरे सामने आयी है उसके अनुसार फर्जी आईडी और मोबाइल के साथ दरभंगा तक यह पार्सल की बुकिंग की गई थी । जांच एजेंसियों ने इस पार्सल से जुड़े अनुसंधान मे कई जानकारी इकट्ठा की हैं, उसके तथ्यो पर इस कांड से जुड़े लोगो की खोज जारी है। मामले की तह तक जाने के लिए संदिग्धों की गिरफ्तारी को एक विशेष कड़ी के रूप में देखा जा रहा है, जिसके लिए सिकंदराबाद से दरभंगा रेलवे स्टेशन तक के सीसीटीवी फुटेज को चेक किया जा रहा है। वही पार्सल भेजने वाले और यह किसे भेजा गया था, इसकी पड़ताल चल रही है।


ब्लास्ट के पीछे बड़ी साज़िश की आशंका



बताते चलें की दरभंगा रेलवे स्टेशन पर ब्लास्ट की जांच का दायरा बढ़ता जा रहा है। वही पार्सल के जरिए विस्फोटक सामग्री मंगाई गई थी या उसके पीछे कोई और मंशा रही हैं, इसकी भी जाँच जारी है। मालूम हो की दरभंगा पहले भी आतंकी गतिविधियों के कारण सुरक्षा एजेंसियो के टार्गेट पर रहा है, जिसको लेकर इस धमाके के पीछे बड़ी साज़िश से इनकार नहीं किया जा सकता है। बता दें कि एफएसएल की टीम भी जांच में लगी है, जहां जल्द से जल्द संदिग्धों को पकड़ने की कोशिश तेज हो चली है।

334 व्यूज0 टिप्पणियाँ