खोज करे
  • DARBHANGA CITY

दरभंगा पार्सल ब्लास्ट का पाकिस्तान कनेक्शन।



दरभंगा पार्सल ब्लास्ट में पाकिस्तान का कनेक्शन सामने आया है। बताते चलें कि दरभंगा पार्सल ब्लास्ट में दो सगे भाइयों ने मिलकर सिकंदराबाद-दरभंगा को उड़ाने की साजिश रची थी। इसको लेकर पकड़ाये गये दोनों भाइयों ने खुलासा किया है। दहशतगर्दों ने लोकल केमिकल का उपयोग कर आईईडी तैयार किया था, परन्तु उनकी साज़िश नाकाम हो गई। पार्सल ब्लास्ट मामले में दोनों भाई की बरामदगी हैदराबाद में हुई, जहां पूछताछ के दौरान हैरतअंगेज खुलासा हुआ है। इस पूरी साज़िश को पाकिस्तान में मौजूद आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के इशारे पर रची गई थी।


धमाके के जरिए जान-माल को नुकसान की कोशिश



एनआईए के मुताबिक पकड़े गए नासिर साल 2012 में पाकिस्तान पहुंचा था, जिसे लश्कर के आतंकियों ने ट्रेनिंग दी थी। ट्रेनिंग में उसने लोकल केमिकल का इस्तेमाल कर आईईडी बनाना सीखाया गया था। सिकंदराबाद-दरभंगा ट्रेन में ब्लास्ट के लिए इसी आईईडी को तैयार किया गया था, लेकिन विस्फोट ट्रेन में ना होकर जंक्शन पर हो गया। यह आईईडी बहुत घातक है, धमाके की वजह से ट्रेन आग लग सकती थी। आतंकी का उद्देश्य ट्रेन में धमाका के जरिए जान-माल को बड़ा नुक़सान पहुंचाना था।


सीसीटीवी फुटेज से अहम खुलासा



दरभंगा पार्सल ब्लास्ट मामले में पकड़े गए दोनों भाई लश्कर के अपने हैंडलर के कॉन्टेक्ट में थे, उसी के इशारे पर धमाका करने की साज़िश बनाई गई थी। दोनों भाई एनआईए के गिरफ्त में हैं, ये दोनों हैदराबाद में रहते थे और मूल रूप से दोनों यूपी के शामली के हैं। इस मामले में कई और संदिग्धों की भूमिका मानी जा रही है। दरभंगा पार्सल ब्लास्ट की जांच तेज कर दी गई है, वहीं सिकंदराबाद जंक्शन के सीसीटीवी फुटेज की गहन से जांच जारी है। इसमें कई संदिग्ध एनआईए के रडार पर हैं।

197 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें