खोज करे
  • DARBHANGA CITY

दरभंगा में दिनदहाड़े कंकाली मंदिर के पुजारी की गोली मारकर हत्या।


दुर्गापूजा के उत्सव को लोग धूमधाम से मना रहें हैं, वहीं दूसरी ओर इससे फिजा में भक्तिमय माहौल बना हुआ है। लेकिन आज गुरुवार की सुबह हुई वारदात से दरभंगा दहल गया है। जी हां, बताते चलें कि दरभंगा राज स्थित रामबाग किला में कंकाली मंदिर के पुजारी की दिनदहाड़े अपराधियों ने हत्या कर दी। पूरे घटनाक्रम पर फोकस करते हुए बता दें कि कंकाली मंदिर के मुख्य पुजारी राजीव कुमार झा उर्फ मंटू जी पर अपराधियों ने मंदिर के भीतर घुसकर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। इसमें चार गोली मुख्य पुजारी को लगी, वहीं एक गोली पास में खड़े भक्त को लगी जिनको घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया है।


एक अपराधी अपने ही बंदूक के रिवर्स फायर से घायल



गोलियों की गूंज सुनकर लोग भागे-भागे दौड़े आए, जिसमें कुछ लोगों ने साहस दिखाते हुए हथियार से लैस चार अपराधियों में से तीन को पकड़ लिया और जमकर पिटाई करने लगे। हालांकि इस दौरान एक अपराधी भागने में सफल रहा। वहीं पुजारी पर गोली चलाते वक्त एक अपराधी अपने ही बंदूक के रिवर्स फायर से घायल हो गया। वहीं पकड़े गए एक बदमाश की मौत लोगों द्वारा की गई पिटाई से हो गई। जबकि दो को पुलिस द्वारा इलाज के लिए अस्पताल भेज दिया गया। जिसमें एक की स्थिति गंभीर बनी हुई है।


अपराधियों ने दर्जनों गोलियां चलाई



बताते चलें कि घटना की खबर आग की तरह फैल गई और देखते ही देखते मंदिर के आसपास लोगों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी। वहीं मंदिर का प्रांगण खून से सना पड़ा था। पुजारी के परिजनों की करूण चीत्कार मंदिर में गूंज रहा था। घटना के तुरंत बाद भारी दल-बल के साथ एसएसपी बाबूराम समेत टाउन हॉल के एसडीपीओ, विश्वविद्यालय थाना क्षेत्र के थाना अध्यक्ष समेत अन्य थानों के पुलिस पहुंचें और अनुसंधान शुरू कर दी। मालूम हो कि दो दिन पहले से पुजारी और अपराधियों में किसी बात को लेकर मतभेद हो रही हैं, जिसके बाद आज पुजारी को बदमाशों ने मौत के घाट उतार दिया। जानकारी के मुताबिक चार अपराधी कार से पहुंचे थे, जो घटनास्थल से करीब 500 मीटर दूर सुनसान जगह पर उतर आते और हाथ में पिस्टल लहराते हुए मंदिर के अंदर घुस गये। इतना ही नहीं अपराधियों ने पुजारी की पहचान कर करीब दर्जनों गोलियां चला दीं। इस घटना के बाद गुस्साई भीड़ ने अपराधियों के कार को भी तोड़फोड़ दिया।


मोबाइल को लेकर विवाद का मुद्दा




जिला प्रशासन ने इस मामले में अपनी फुर्ती दिखाई। मामले की जांच को लेकर पहुंचे एसएसपी बाबूराम को भी लोगों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। एसएसपी खुद इस मामले की अनुसंधान को लेकर गहनता से मंदिर परिसर के भीतर सभी चीजों का बारीकियों से जायजा लिया और घटना की पूरी जानकारी ली। इस दौरान कुछ बातें जो सामने आई वो ये हैं कि कंकाली मंदिर के मुख्य पुजारी राजीव कुमार झा के भतीजे से बदमाशों ने मोबाइल छीन लिया था, जिसको लेकर पिछले दो दिनों से पुजारी से कुछ लोग की नोंक-झोंक चल रही थी।


चार गोली पुजारी के शरीर पर लगने से मृत्यु



इस घटना में पुजारी के शरीर पर चार गोली लगी, जिसमें उनकी मौत हो गई। वहीं दूसरी ओर एक अपराधी की मौत भीड़ की पिटाई से हो गई, तथा दो घायल हैं। जिसका इलाज पुलिस कस्टडी में चल रहा है। जिस अपराधी की मौत हुई है उसकी पहचान दिल्ली मोड़ पर रहने वाली की हुई है, वहीं दो अपराधियों की पहचान दरभंगा जिले के अलग-अलग जगह पर रहने वाले में हुई है। तथा एक जो भागने में सफल रहा उसकी पहचान मुजफ्फरपुर में रहने वाला है की गई है। पुलिस भागे अपराधी की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी कर रही है। वहीं बता दें कि घटनास्थल पर तीन खोखा भी बरामद किया गया है।

2231 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें