खोज करे
  • DARBHANGA CITY

राजधानी पटना की तर्ज पर अब दरभंगा में भी रिंग रोड का निर्माण।


दरभंगा को लेकर एक और बड़ी खुशखबरी सामने आई है। बताते चलें कि राजधानी पटना के तर्ज पर बिहार के पांच शहरों में रिंग रोड का निर्माण होगा, जिसमें दरभंगा का नाम भी शामिल हैं। जिन शहरों में रिंग रोड का निर्माण कराया जाएगा। बिहार के पथ निर्माण विभाग के मंत्री नितिन नवीन ने केंद्रीय सड़क एवं राज्यमार्ग परिवहन मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक की। इस बैठक में पटना को छोड़कर राज्य के अन्य प्रमुख शहरों जहां उनकी उपयोगिता, ऐतिहासिक महत्व, पर्यटकीय दृष्टिकोण तथा बढ़ते ट्रैफिक दबाव और लोगों के सफर को आसान बनाने के लिए रिंग रोड का प्रपोजल रखा गया। और खुशखबरी ये रही कि मंत्रालय के अधिकारियों ने इस प्रपोजल को स्वीकार कर लिया।


दरभंगा और भोजपुर के लिए बनी सहमति



केंद्र से हरी झंडी मिलते ही पथ निर्माण विभाग ने शहरों के चयन का काम शुरू कर दिया है। जिसमें पथ निर्माण विभाग ने पांच शहरों में दरभंगा और भोजपुर में रिंग रोड बनाने की सहमति बन गई है। वहीं दूसरे शहरों के नाम पर विचार किया जा रहा है। इन शहरों में ट्रैफिक लोड सर्वे के बाद पांच शहरों का नाम केंद्रीय सड़क एवं राजमार्ग परिवहन मंत्रालय को भेजा जाएगा, जिससे उस पर आगे कार्य शुरू किया जा सके।


पटना में शुरू रिंग रोड का निर्माण कार्य




बता दें कि यह रिंग रोड अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के नजदीक से शुरू होते हुए कन्हौली में जाकर मिलेगा। बताते चलें की यह रिंग रोड डबल लेन सड़क होगी। जहां एक साथ गाड़ियाँ विपरीत दिशाओं में आ जा सकेगी। फ़ोर लेन सड़कों की तरह चौड़ी इन रिंग रोड से लोगों को ना सिर्फ़ जाम की समस्या से निजात मिलेगा, साथ ही साथ लोगो का सफ़र भी पहले के मुक़ाबले कहीं आसान हो चलेंगा। बताते चलें की इन शहर में रिंग रोड के निर्माण पर 60 हजार करोड़ रूपये खर्च किये जायेगे। बताते चलें की आमस दरभंगा एक्सप्रेस का निर्माण भी दरभंगा में किया जाना है जो कि लहेरियासराय के रामनगर होते हुए एनएच 27 तक को जोड़ेगी। वही अब रिंग रोड की सौग़ात दरभंगा सहित अन्य शहरों के विकास में मिल का पत्थर साबित होगी। इस सड़क के निर्माण से ना सिर्फ़ दरभंगा शहर के क्षेत्र का विस्तार होगा और शहर का फैलाव रिगरोड के आसपास होगा साथ ही नागरिक सुविधाओं में भी विस्तार होगा। मालूम हो कि राजधानी पटना में रिंग रोड का निर्माण कार्य चल रहा है। जहां 137 किलोमीटर लंबे रिंग रोड के लिए केंद्र 15 हजार करोड़ रुपए खर्च कर रही है।

4756 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें