खोज करे
  • DARBHANGA CITY

पर्यटन स्थल के रूप में उभरेगा दरभंगा, तीन हेरिटेज तालाबों को संवारने की तैयारी।


तालाबों के शहर के नाम से जाने वाले दरभंगा को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की पहल शुरू होने लगी है। दो दिवसीय मिथिलांचल दौरा के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दरभंगा पहुंचे थे, जहां उन्होंने दरभंगा शहर के तीन हराही, दिग्घी और गंगासागर तालाब का सौंदर्यीकरण कराने की बात की। बता दें कि दरभंगा शहर में तालाबों की भरमार है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की इस घोषणा से दरभंगा को पर्यटन स्थल के रूप में उभरने की आस बढ़ गई है। सीएम ने सौंदर्यीकरण के साथ एकीकरण भी करने की घोषणा की है।


सैलानियों के आगमन से बढ़ेंगे रोजगार के अवसर



फिलहाल तालाबों का एकीकरण करने को लेकर यह साफ नहीं हुआ है कि इसमें कौन सी पद्धति अपनाई जा सकती है। नया डीपीआर तैयार करने और राशि की व्यवस्था होगी, उसके बाद ही पूरी जानकारी मिल सकती है। मालूम हो कि दरभंगा के हराही, दिग्घी और गंगासागर तालाब का सौंदर्यीकरण होने से बड़ी संख्या में सैलानी पहुंचेंगे। तालाब का एरिया बड़ा रहने की वजह से नौका विहार की व्यवस्था आसानी से कराई जा सकती है।


अतिक्रमण मुक्त हो तालाब



नौका विहार की बात करें तो श्यामा माई मंदिर परिसर स्थित तालाब में इसकी सुविधा उपलब्ध कराई गई है। जिसका भरपूर आनंद मंदिर आने वाले लोग उठा रहे हैं। अन्य तालाबों में नौका विहार की सुविधा बहाल करने से रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। साथ ही तालाबों के आस-पास कई तरह के और भी व्यवसाय फल-फूल सकेंगे। सीएम नीतीश कुमार द्वारा तालाबों के सौंदर्यीकरण की घोषणा के बाद जिला प्रशासन डीपीआर बनाकर नगर विकास और आवास विभाग को भेजेगी। तालाबों के सौंदर्यीकरण में कुछ बाधा सामने आ सकती है, जिसमें अतिक्रमण सबसे बड़ा मुद्दा है। इसको लेकर कई बार अतिक्रमण मुक्त करने की पहल भी हुई है लेकिन अभी तक पूरी तरह से अतिक्रमण मुक्त नहीं हो पाया है।

1692 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें