खोज करे
  • DARBHANGA CITY

जल्द ही दरभंगा झंझारपुर हो कर मिलेगी सहरसा तक की सीधी कनेक्टिविटी, 88 साल बाद दौड़ेगी ट्रेन।

नये वर्ष में दरभंगा से सहरसा के बीच लोगों को सीधी कनेक्टिविटी रेल परिचालन के माध्यम से मिलेगी। बताते चलें कि मिथिला की हृदयस्थली दरभंगा से कोसी महासेतु होकर शीघ्र ही सहरसा तक ट्रेन सेवा उपल्बध होगी। रेलवे की महत्वाकांक्षी परियोजना के तहत दरभंगा से वाया सकरी, झंझारपुर, निर्मली होते हुए सहरसा तक अमान परिवर्तन के तहत जल्द ही ट्रेन का परिचालन शुरू करने की कवायद में रेल महकमा जुटा हुआ है। अगर सब कुछ ठीक रहा तो साल के आने वाले शुरुआती माह में ट्रेन परिचालन बहाल किया जा सकेगा। सीआरएस निरीक्षण के बाद ट्रेन परिचालन की संभावना

मालूम हो कि दरभंगा को सहरसा और फारबिसगंज से जोड़ने वाला रेलखंड सन् 1934 की त्रासदी के बाद से बंद हैं। जहां फिर एक लंबे समय के बाद इस रेलखंड को चालू करने के लिए 2012 में आमान-परिवर्तन शुरू किया गया था। रेल सेवा शुरू करने के लिए करीब 9 साल से इस रेलखंड पर कार्य चल रहा है। बता दें कि वर्तमान में दरभंगा से झंझारपुर तक और सहरसा से कुपहा तक ट्रेन परिचालन किया जा रहा है। वहीं अब कुपहा से निर्मली तक सीआरएस निरीक्षण करने के बाद उम्मीद तेज हो गई है कि जल्द ही सहरसा से निर्मली तक रेल परिचालन बहाल कर दिया जाएगा। अप्रैल 2022 में रेल परिचालन बहाल

बता दें कि झंझारपुर से तमुरिया तक सीआरएस निरीक्षण पहले ही किया जा चुका है। अब तमुरिया से निर्मली तक सीआरएस निरीक्षण किया जाना है। इसकी संभावना नये साल के जनवरी में होने की संभावना जताई जा रही है। मालूम हो कि तमुरिया और निर्मली के बीच ट्रैक बिछाने से लेकर स्टेशन भवन और अन्य कार्य लगभग पूरे किए जा चुके हैं। वहीं पिछले कुछ दिनों से रेल लाइन की स्थिति को जानने के लिए लगातार ट्रायल ट्रेन चलाया जा रहा है। तमुरिया से निर्मली तक सीआरएस निरीक्षण होने के बाद कभी भी इस रेलखंड पर दरभंगा से सहरसा तक रेल परिचालन की घोषणा की जा सकती है। अप्रैल 2022 में निर्मली से झंझारपुर, सकरी होते हुए दरभंगा तक रेल परिचालन बहाल होने की संभावना सीआरएस ने बताई है।

3907 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें