खोज करे
  • DARBHANGA CITY

जयनगर-कुर्था इंडो रेल लाइन भारत ने सौंपी नेपाल को, शीघ्र रेल परिचालन बहाल।



बहुप्रतीक्षित जयनगर-जनकपुरधाम वाया कुर्था तक रेल परिचालन शुरू होने की उम्मीद तेज हो गई है। बताते चलें कि शुक्रवार को नेपाल के काठमांडू में भारत सरकार ने जयनगर-कुर्था इंडो नेपाल रेल परियोजना को नेपाल सरकार के हाथ में सौंप दिया। बिहार के जयनगर से नेपाल के कुर्था तक 34 किलोमीटर लंबी रेल लाइन का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है। मालूम हो कि जयनगर-कुर्था सेक्शन 68.7 किलोमीटर लंबी जयनगर-बिजलपुरा-बर्दीवास रेल संपर्क का हिस्सा है।


व्यापार एवं वाणिज्य के साथ आपसी संबंध को बढ़ावा



जयनगर से कुर्था तक रेल लाइन का निर्माण पूरा होने के बाद इसे नेपाल सरकार को सौंप दी गई। भारत-नेपाल मैत्री के तहत आर्थिक सहयोग में भारत के जयनगर से नेपाल के कुर्था तक 34 किलोमीटर रेलखंड को ब्रॉड गेज में पहले चरण में आमान परिवर्तन का कार्य हुआ है। भारत द्वारा नेपाल को इस रेल परियोजना को सौंपे जाने के साथ ही दोनों देशों के लोगों में जल्द ही रेल परिचालन की उम्मीद तेज हो गई है। साथ ही दोनों देशों के लोगों को व्यापार और वाणिज्य के साथ आपसी संबंध को बढ़ावा मिलने की आस जगी है।


तीन फेज के तहत निर्माण कार्य



बताते चलें कि जयनगर-कुर्था सेक्शन 68 किलोमीटर लंबी जयनगर-बिजलपुरा-बर्दीवास रेल संपर्क का हिस्सा है। भारत सरकार द्वारा दी गयी सहायता के तहत इस रेल संपर्क को तैयार किया जा रहा है। इस रेल परियोजना को तीन फेज के तहत पूरा किया जाना है। जिसमें पहले फेज में जयनगर-कुर्था 34.9 किलोमीटर, दूसरा फेज कुर्था से वर्दीवास तक 18.6 किलोमीटर तथा तीसरे फेज में बर्दीवास से बिजुलपुरा तक 15.67 किलोमीटर रेल लाइन का निर्माण कराया जाएगा।

1244 व्यूज0 टिप्पणियाँ