खोज करे
  • DARBHANGA CITY

पप्पू यादव को मिली जान से मारने की धमकी, वहीं दूसरी तरफ 40 एम्बुलेंस ड्राइवर को खड़े किए सामने।



बिहार में बढ़ते कोविड-19 मामलों के बीच सारण के सांसद दफ्तर से मिले एंबुलेंस का विवाद गहराता जा रहा है, बता दें कि पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता राजीव प्रताप रूडी के ट्रेंनिग सेंटर पर हाल में ही दर्जनों एम्बुलेंस खड़ी मिली थी। पप्पू यादव द्वारा इस खुलासे के बाद से आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी है, जिसके बाद सूबे में सियासत गरमा गई है। मालूम हो कि बिहार में कोरोना के कारण हालात काफी गंभीर होती जा रही है, अस्पतालों में आईसीयू वेंटिलेटर नदारद है। रेमडीसीवीर की संख्या जितनी हैं, उससे कही ज्यादा मरीज भर्ती हैं। वहीं इन सब के बीच एम्बुलेंस के अभाव में मरीज़ों के परिजनो से मनमाने किराए वसुलने की रोज़ खबर सामने आती रहती है।



सरकारी दर्जनों एम्बुलेंस सांसद के घर पर खड़ी मिली


कोरोना मरीजों को अस्पताल जाने के लिए एम्बुलेंस नहीं मिल पा रहा है, वही इन परिस्थितियों में बीजेपी नेता के दफ़्तर से बड़ी संख्या में मिले एंबुलेंसों के काफिले ने कई सवाल खड़े कर दिये है। बीजेपी नेता राजीव प्रताप रूडी ने जहाँ अपने दफ़्तर के पास से मिले एम्बुलेंस पर सफाई देते हुए कहा कि, ड्राइवर की कमी के कारण इन एम्बुलेंसों का परिचालन नहीं हो पा रहा हैं। वही इसके जवाब में जाप अध्यक्ष पप्पू यादव ने उन एम्बुलेंसों के लिए 40 ड्राइवर को खड़े कर दिया हैं। मालूम हो कि जो एम्बुलेंस पूर्व केंद्रीय मंत्री के घर पर पाया गया है, वो सारे सासंद निधि से मिले सरकारी एम्बुलेंस हैं।



चुनौती के जवाब में खड़े किए 40 ड्राइवर


ड्राइवरो की कमी की बात कहते हुए कल ही रूढ़ी ने पप्पू यादव को वीडियो के जरिए चुनौती पेश की थी, जिसके जवाब में आज प्रेस कॉन्फ्रेंस को आयोजित कर पप्पू यादव ने 40 एम्बुलेंस ड्राइवरों को सामने लाकर खड़ा कर दिया है। पप्पू यादव ने कहा की जहां एक तरफ बिहार में कोरोना को लेकर हाहाकार मचा हुआ है, वहीं दूसरी तरफ दर्जनों एम्बुलेंस बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी के घर पर धूल फांक रहा है। पप्पू यादव ने सरकार, सिस्टम और बीजेपी सांसद पर सवालिया निशान लगा दिया है।



जान से मारने की दी जा रही है धमकी


पप्पू यादव ने बीजेपी नेता और उनके समर्थकों पर धमकी देने का आरोप लगाया है। बता दें कि प्रेस कॉन्फ्रेंस में पप्पू यादव ने खुलासा किया है कि उन्हें जान से मारने की धमकी दी जा रही है, लेकिन इसका डर मुझे नहीं हैं। बकौल मुझे मारने से अगर बिहार के लोगों को मुफ्त में एम्बुलेंस की सुविधा मिले, और इलाज का समुचित व्यवस्था हो जाए तो मैं खुद आत्महत्या कर लूंगा। वहीं उन्होने यह भी बताया कि जरूरत पड़ने पर हम धमकी से भरे हुए ऑडियो को पब्लिक करने के लिए भी तैयार हैं।

386 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें