खोज करे
  • DARBHANGA CITY

दरभंगा में पांचवीं बार जदयू विधायक का विरोध जताया जनता ने, मांगा काम का हिसाब।


चुनाव प्रचार के दौरान कई जगहों पर विधायकों एवं प्रत्याशियों को भारी विरोध का सामना करना पड़ रहा है। बताते चलें कि दरभंगा के कुशेश्वर स्थान विधानसभा क्षेत्र के विधायक और जेडीयू उमीदवार शशिभूषण हजारी को बीती रात आम आदमियों का फिर एक बार आक्रोश झेलना पड़ा। बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियों ने अपनी पूरी एड़ी-चोटी की जोर लगा दी है।


विधायक के विरोध में लगे नारे


मालूम हो कि इस विधानसभा क्षेत्र के पघारी गांव मे वोट मांगने गए विधायक जी को वहां की जनता का आक्रोश तो झेलना ही पड़ा, वहीं पब्लिक इतना गुस्सा में थी कि उनके पोस्टर तक को फाड़ के आग लगा दिया। इतना ही नहीं विधायक जी की गाड़ी को घेर लोग मुर्दाबाद के नारे के साथ साथ दस सालों के काम का हिसाब मांगने लगे।


विधायक खिसके चुपचाप


उनके कार्यकर्ता और नेता जी के साथ धकामुक्की का मामला जब तूल पकड़ता नजर आया, तो विधायक ने चुपचाप वहां से खिसकने में ही अपनी भलाई समझी। बिहार चुनाव के दौरान पहले भी कई विधायकों को इस तरह जानता के विरोध का सामना करना पड़ा है।


मोतिहारी से बीजेपी प्रत्याशी को लेकर आक्रोश


यहां तक कि रविवार को बिहार सरकार के मंत्री और मोतिहारी विधानसभा से बीजेपी कैंडिडेट प्रमोद कुमार पब्लिक के सवालों में घिर गए। वे लगातार तीन बार से मोतिहारी से विधायक बनते आ रहे हैं। एक बार फिर से वे मोतिहारी विधानसभा क्षेत्र से चुनावी मैदान में हैं। चुनावी प्रचार के दौरान उन्हें वोटरों के भारी आक्रोश का सामना करना पड़ा है।


वोट प्रचार के दौरान जताया जा रहा विरोध


दरअसल प्रमोद कुमार अमर छतौनी में वोट मांगने गए हुए थे, तभी ग्रामीण युवक कीचड़ वाले सड़क को दिखाते हुए प्रमोद कुमार से सवाल पूछने लगे। हालांकि, प्रमोद कुमार युवकों को समझाने का प्रयास करते दिखे कि रोड का टेंडर हो चुका है, पर ग्रामीण इसे झूठ बताकर निवर्तमान विधायक मंत्री प्रमोद कुमार का विरोध करने लगे।

927 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें