खोज करे
  • DARBHANGA CITY

कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लेने में देरी से क्या टीका होगा असरदार?



कोरोना महामारी की दूसरी लहर धीरे-धीरे कम पड़ रही है, वैसे ही लोगों का जनजीवन पटरी पर आने लगा है। ऐसा नहीं है कि अभी कोरोना का खतरा कम हो गया हैं, लेकिन देश भर में कोविड-19 के प्रभाव को कम करने के लिए वैक्सीनेशन का अभियान भी जोरों पर है। मगर इन सबों के बीच बहुत जगह ऐसे भी मामले देखें जा रहे हैं, जहां अत्यधिक भीड़ होने की वजह से कोरोना का दूसरा टीका समय पर मिलने में लेट हो रही है। वहीं पहले डोज के बाद दूसरे डोज की तय तारीख पर वैक्सीन नहीं लग पाती। और दूसरी डोज लेने में देरी हो जाती है।


विशेषज्ञ की राय



वैक्सीन की दूसरी डोज में अगर देरी हो जाती है, तो लोगों के समक्ष एक प्रश्न खड़ा हो जाता है कि क्या एंटीबॉडी बनेगी। मालूम हो कि खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में लोग सेंटर पर समय से नही पहुंच पाते हैं। लोगों के मन में उठ रही आशंकाओं को लेकर विशेषज्ञों का कहना है कि अगर किसी कारणवश दूसरी डोज लगवाने में देर हो गई है, तो तुरंत जाकर लगवा लें। वैसे भी पहले डोज में एंटीबॉडी नहीं बनती, इसलिए दूसरा डोज लगवाना बहुत जरूरी है।


सावधानी बरतने की जरूरत



देश में दूसरी लहर की रफ्तार तो धीमी हो गई है। लेकिन पर्व-त्योहारों का सीजन आ रहा है, ऐसे में संक्रमण तेजी से बढ़ने की आशंकाएं भी व्यक्त की जाने लगी है। तीसरी लहर के मद्देनजर लोगों को अभी से सावधानी बरतने की जरूरत है। बेवजह घर से बाहर निकलना, मास्क लगाना और साफ-सफाई की खास जरूरत है। जिससे संक्रमण से बचा जा सकता है।

929 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें