खोज करे
  • DARBHANGA CITY

बिहार को मिली एक और एक्सप्रेस-वे की सौगात, उत्तर बिहार के इन 10 जिलों से गुजरेगी सड़क।


बिहार में लगातार एक्सप्रेस-वे को लेकर अच्छी खबर सामने आ रही है, इसी बीच बिहार को फिर चौथे एक्सप्रेस-वे की सौगात मिल गई है। जी हां, सही सुना आपने। गोरखपुर से सिलीगुड़ी के बीच प्रस्तावित यह सड़क बिहार का चौथा एक्सप्रेस-वे होगा। बता दें कि गोरखपुर से सिलीगुड़ी जाने का रूट बिहार के 10 जिलों में निर्धारित किया गया है। केन्द्र ने इस एक्सप्रेस-वे के निर्माण की सैद्धांतिक रूप से मंजूरी दे दी है। जिसके बाद पथ निर्माण विभाग ने इस सड़क निर्माण को शुरू करने की प्रक्रिया तेज कर दी है।


वर्तमान में गोरखपुर से सिलीगुड़ी के बीच कोई सीधी सड़क नहीं



मालूम हो कि वर्तमान में गोरखपुर से सिलीगुड़ी के बीच कोई सीधी सड़क नहीं है। जिसकी वजह से गोरखपुर से सिलीगुड़ी की दूरी तय करने में एक दिन से अधिक समय लग जाता है। प्रस्तावित गोरखपुर-सिलीगुड़ी एक्सप्रेस-वे के निर्माण से दोनों शहरों के बीच की दूरी लगभग 600 किलोमीटर से भी कम हो जाएगी। बता दें कि 6 से 8 लेन की बनने वाली इस एक्सप्रेस-वे में से 416 किलोमीटर सड़क बिहार से होकर गुजरेगी। इससे बिहार के 10 जिलों का सीधा जुड़ाव होगा।


इन जिलों को अधिक लाभ



प्रस्तावित एक्सप्रेस-वे गोरखपुर से शुरू होकर बिहार के गोपालगंज में प्रवेश करेगी, जिसके बाद सीवान, छपरा, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, मधुबनी, सुपौल, सहरसा, पूर्णिया, किशनगंज होते हुए सिलीगुड़ी जाएगी। इस एक्सप्रेस-वे को पूरी तरह ग्रीनफील्ड बनाया जाएगा, वहीं इसमें किसी भी पुरानी सड़क को एक्सप्रेस-वे में शामिल नहीं की जाएगी। मालूम हो कि एक्सप्रेस-वे पर गाड़ियों की स्पीड ज्यादा होती है, इसके लिए जरूरी है सड़कें सीधी हो। इसलिए सड़क का एलाइनमेंट इस तरह तय किया जाएगा कि यह एक्सप्रेस-वे गोरखपुर से सीधे सिलीगुड़ी तक जाए। गोरखपुर-सिलीगुड़ी एक्सप्रेस-वे निर्माण से सबसे अधिक लाभ उत्तर बिहार को होगा। वहीं एक्सप्रेस-वे बन जाने से लोगों का सफर तो आसान होगा ही विकास के नये द्वार भी खुलेंगे।

1688 व्यूज1 टिप्पणी

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें