खोज करे
  • DARBHANGA CITY

मिथिला पेंटिंग की कलाकार "दुलारी देवी" भारत की सबसे प्रतिष्ठित पद्मश्री अवार्ड से होगी सम्मानित।


मिथिला पेंटिंग का क्रेज लगातार बढ़ता चला जा रहा है। बताते चलें कि मिथिला पेंटिंग देश ही नहीं बल्कि विदेश में भी खुब धूम मचा रही है। पेंटिंग को लेकर लोगों का नजरिया बदल गया है। गांव की कलाकृतियां ने बाजारों पर भी काबिज कर लिया है। पेंटिंग की डिमांड काफी बढ़ गई है, मसलन इस पेंटिंग को साड़ी, दुपट्टा, बैग, समेत कई ऐसे प्रोडक्ट हैं जिसपर उकेरा गया है। और इसे खुब पसंद भी किया जा रहा है।


घर-आंगन की कलाकृति ने दुनिया में बिखेरा अपना रंग


मिथिला पेंटिंग की लोकप्रियता ने बिहार को सातवीं बार पद्मश्री अवार्ड से नवाजा गया है। दुलारी देवी मधुबनी जिले के रांटी गांव की रहने वाली है। दुलारी देवी ने मिथिला पेंटिंग में दक्ष महासुन्दरी देवी के घर में काम करते हुए उनसे पेंटिंग सीखा। गणतंत्र दिवस के पूर्व इस बात की सूचना केंद्र गृहमंत्रालय द्वारा दी गई। इस अवार्ड को लेकर मिथिलांचल में खुशी का माहौल है। मालूम हो कि मधुबनी-दरभंगा के हर घर-आंगन में मिथिला पेंटिंग कागज से लेकर कपड़ा समेत अन्य माध्यम से उतर चुकी है। विदेशों में इसकी लोकप्रियता भी तेजी से फैल रही है।


राष्ट्रपति के हाथों मिलेगा अवार्ड


मिथिला की लोककला ने फिर से एक बार परचम लहरा दिया है। वहीं जानकारी को लेकर बता दें कि बिहार को मिले 7 पद्मविभूषण अवार्ड मधुबनी जिले से हैं। दुलारी देवी को राष्ट्रपति अपने हाथों से यह पुरस्कार मार्च महीने में दिल्ली में दिया जाएगा।

222 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें