खोज करे
  • DARBHANGA CITY

बिहार में पटना एयरपोर्ट समेत ये सड़कें-ट्रेनें होने जा रही प्राइवेट।



बिहार के लिए बहुत बड़ी खबर सामने आ रही है। बताते चलें कि देश में केन्द्र सरकार द्वारा निजीकरण की प्रक्रिया में बिहार के लिए बड़ा निर्णय लिया गया है। जिसके तहत अब पटना एयरपोर्ट के साथ-साथ कई बड़े राजकीय संसाधनों को निजीकरण किया जाएगा। वहीं इसके साथ ही सेंट्रल गवर्नमेंट ने पैसेंजर ट्रेनों के साथ-साथ कई तरह के सरकारी संसाधनों को भी प्राइवेट करने की योजना बनाई है।


इन सात सड़कों को प्राइवेट करने का प्रस्ताव



बता दें कि पटना एयरपोर्ट के साथ-साथ बिहार की कई सड़कों का भी निजीकरण किया जाएगा। इसी के तहत पटना एयरपोर्ट को साल 2023 में निजी हाथों में सौंपने की तैयारी चल रही है। इसके साथ ही पटना जंक्शन से प्राइवेट ट्रेनें भी चलाई जा सकती है। मालूम हो कि बिहार के 7 सड़कों का संचालन भी निजी हाथों में देने पर विचार चल रहा है। जिन 7 सड़कों को प्राइवेट करने का प्रस्ताव हैं उसमें हाजीपुर-मुजफ्फरपुर, पूर्णिया-दालकोला, कोटवा-मेहसी-मुजफ्फरपुर, खगड़िया-पूर्णिया, मुजफ्फरपुर-सोनबरसा, बाराचट्टी-गोरहर, मोकामा-मुंगेर सड़क शामिल हैं।


दरभंगा को लेकर भी इच्छुक प्राइवेट कंपनियां



पटना एयरपोर्ट का निजीकरण करने के एवज में केंद्र सरकार को 1000 करोड़ रुपए की राशि निजी कंपनियों के द्वारा मिलेगी। बता दें कि निजीकरण करने की प्रक्रिया में मिलने वाली राशि को देश के विकास में खर्च करने की योजना बनाई गई है। केन्द्र सरकार देश के 25 एयरपोर्ट को प्राइवेट करने जा रही है। वहीं दरभंगा एयरपोर्ट की बात करें तो एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया की तरफ से अभी तक निजीकरण करने की कोई सूचना सामने नहीं आई है। लेकिन प्राइवेट कंपनी दरभंगा को लेकर भी इच्छुक हैं।

2828 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें