खोज करे
  • DARBHANGA CITY

रक्सौल से हवाई उड़ान शुरू करने को लेकर सरकार ने दिया लोगों को बड़ा झटका।


रक्सौल एयरपोर्ट से हवाई सेवा शुरू करने को लेकर सरकार ने लोगों को बड़ा झटका दे दिया है। बता दें कि केंद्रीय उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने राज्यसभा में सुशील कुमार मोदी के द्वारा पूछे गए सवाल में बताया कि भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के 213 एकड़ भूक्षेत्र वाले रक्सौल हवाई अड्डा का वर्तमान रनवे 30 मीटर है, जो वास्तव में उतना प्रचलित नहीं हो पाया है।


रक्सौल एयरपोर्ट को लेकर एक भी निविदा प्राप्त नहीं


रक्सौल हवाई अड्डे को उड़ान योजना के तहत जोड़ने के लिए किसी भी एयरलाइंस ने अपनी रूचि नहीं दिखाई है। रक्सौल क्षेत्रीय संपर्कता योजना के तहत संभावित हवाई अड्डों की सूची में शामिल होने के बावजूद किसी कंपनी ने निविदा नहीं डाली हैं। उड़ान के तहत रक्सौल को जोड़ने वाली कोई वैलिड टेंडर नहीं मिलने से 2024 तक 100 हवाई अड्डे को विकसित करने वाली लिस्ट में रक्सौल का नाम नहीं है। वहीं इस सूची में दरभंगा शामिल हैं।


एयरपोर्ट के भवनों एवं रनवे पर एसएसबी बटालियन एवं किसानों का कब्जा


बता दें कि रक्सौल स्थित हवाई अड्डा जीर्ण-शीर्ण अवस्था में हैं। यहां के लोगों में इस बात की आस जगी थी कि हवाई अड्डे का संचालन फिर से शुरू होने को लेकर सीमा क्षेत्र के लोगों में खुशी की लहर फैली हुई थी। परन्तु सरकार ने सभी के आशाओं पर पानी फेर दिया है। वर्तमान में एयरपोर्ट के भवन में एसएसबी के अधिकारी व बटालियन डेरा डाले हुए हैं। वहीं रनवे पर आसपास के किसानों द्वारा धान और पुआल रख कर खेती का काम किया जाता है।

999 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें