खोज करे
  • DARBHANGA CITY

बिहार में 7 नई हाइवे का बिछेगा जाल, दरभंगा सहित बिहार के पटना तक कई जिलें लाभान्वित।



बिहार में सात नये हाइवे की सौगात मिल सकती है। बताते चलें कि केंद्र सरकार की गति शक्ति योजना के तहत भारतमाला श्रृंखला फेज टू को लेकर बिहार ने इन सड़कों के निर्माण का प्रप्रोजल सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय को भेजा था। जिसका अध्ययन वित्त मंत्रालय द्वारा जारी हैं। वहीं इसके बाद फिर से चार सड़कों का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा गया था। बता दें यह सड़क परियोजना पटना, बक्सर, भोजपुर, जहानाबाद, अरवल, बिहारशरीफ, सारण, वैशाली, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, चंपारण समेत नेपाल से सटे इलाके और उत्तर-पूर्व बिहार के कई ज़िलों की दूरी आसान करेगा।



मालूम हो कि केंद्र सरकार की गतिशक्ति योजना के तहत मूल रूप से आधारभूत संरचना विकसित किए जाने का लक्ष्य है। इसके तहत देशभर में 2 लाख किलोमीटर नेशनल हाइवे का नेटवर्क वर्ष 2024-25 तक पूरा किया जाना है। वहीं गतिशक्ति योजना के तहत भारतमाला श्रृंखला फेज टू की सात सड़कों की निर्माण कराये जाने की संभावना बढ़ रही है। बता दें इसमें तीन पटना में केंद्रित है, पटना-कोलकाता एक्सप्रेस-वे हैं, जिसकी लंबाई करीब 450 किलोमीटर हैं। इसका एलायनमेंट बिहारशरीफ से शुरू होगा, लेकिन इसे पटना से कनेक्टिविटी दी जाएगी। दूसरी सड़क बक्सर-जहानाबाद-बिहारशरीफ हाइवे हैं और इसकी लंबाई 165 किलोमीटर हैं। यह पालीगंज के नजदीक पटना की सीमा से गुजरेगी और हां यह पूरी तरह से ग्रीनफील्ड प्रोजेक्ट हैं। तीसरी सड़क दिघवारा-रक्सौल हाइवे 135 किलोमीटर लंबी हैं।



वहीं भारतमाला श्रृंखला फेज-2 के तहत चार नए सड़क निर्माण गतिशक्ति योजना में संभावित हैं, उसमें भारत-नेपाल बॉर्डर रोड, 552 किलोमीटर लंबी शामिल हैं। दूसरी सड़क दलसिंहसराय-सिमरी बख्तियारपुर हाइवे हैं, इसकी लंबाई 70 किलोमीटर हैं। तीसरी सड़क सुल्तानगंज-देवघर हाइवे हैं, जो 83 किलोमीटर लंबी हैं। चौथी सड़क मशरख-मुजफ्फरपुर हाइवे हैं जो 55 किलोमीटर लंबी हैं।

7005 व्यूज0 टिप्पणियाँ