खोज करे
  • DARBHANGA CITY

तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को छल-कपट से सरकार बनाने का लगाया आरोप।


महागठबंधन के तेजस्वी यादव ने चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर भी सवाल उठाते हुए कहा है कि, आयोग ने कई बूथों पर पोस्टल बैलेटों की गिनती नियमों के उलट कराया है। इसकी गिनती सबसे आखिरी में नहीं करनी चाहिए थी। बिहार विधानसभा चुनाव का रिजल्ट आ चुका हैं। वहीं अब इसके बाद राजनीतिक दल सरकार गठन की प्रक्रिया में जुट गए हैं। दीपावली के बाद मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार सीएम पद की शपथ ले सकते हैं।


विपक्ष के नेता प्रतिपक्ष बने तेजस्वी


वहीं आज गुरुवार को पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर राष्‍ट्रीय जनता दल विधायक दल में पहले तेजस्‍वी यादव को नेता चुना गया हैं। इसके बाद तेजस्वी को पार्टी विधायक दल के नेता साथ महागठबंधन के घटक दलों की सहमति से नेता प्रतिपक्ष भी चुन लिया गया है। जिसके बाद तेजस्वी यादव ने मीडिया से बात की, जहां उन्होंने NDA पर बिहार में छल-कपट और जोड़-तोड़ से सरकार बनाने का आरोप लगाया।


चुनाव आयोग से मतदान केंद्र की फुटेज सुरक्षित रखने की अपील


चुनाव आयोग से तेजस्वी ने सवाल पूछा कि रात के अंधेरे में EVM रखी हुई गाड़ी इधर उधर क्यों की जा रही थी। पोस्टल बैलेट की प्रक्रिया पहले होनी चाहिए थी, लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ, आखिर क्यों? तेजस्वी ने मतदान केंद्रों की फुटेज वाली सीडी को सीलबंद कर रखने की आयोग से अपील की। उन्होंने कहा कि नियमानुसार 40 दिनों तक फुटेज और EVM को सुरक्षित रखना है। तेजस्वी ने कहा कि आश्चर्य हो रहा है कि बड़ी तादाद में पोस्टल बैलेट्स को रद्द किया गया है, जो कि सरासर गलत है।


छोटे दल को दिया आॅफर


तेजस्वी ने सीएम नीतीश पर तंज कसते हुए कहा कि अब तक सामने नहीं आये हैं। ऐसा लगता है फिर से क्वारंटाइन हो गए हैं। तेजस्वी ने बिहार की जनता को धन्यवाद देते हुए कहा कि भले छल कपट से लोग सत्ता की कुर्सी पर बैठ जाएं, लेकिन लोगों ने हमें दिल में बिठाया है। इसके लिये जनता के प्रति दिल से आभारी हूं। लगे हाथ तेजस्वी ने छोटे दलों को ऑफर देते हुए कहा, छोटे दल अगर जनता के जनादेश के साथ आना चाहते हैं तो हम सम्मान करेंगे। मेरा मानना है महागठबंधन ने 130 सीटें हासिल की हैं।


इन मुद्दों को लेकर जनता ने दिया प्यार


तेजस्वी ने कहा कि पूरे चुनाव में हमने मुद्दों को तरजीह दी और उसी पर बात की। शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य, पलायन जैसे तमाम मुद्दे उठाए। हमलोगों ने सकारात्मक रूप से राजनीति की और जनता से जुड़े मुद्दों को उठाया। उन्होंने कहा कि हमें खुशी है कि जनता ने हमारा साथ दिया। मैं अभी भी कहना चाहता हूं कि देश के युवा, मजदूर, किसान, स्वयं सहायता समूह, जीविका दीदियों, आंगनबाड़ी सहायिकाओं और नियोजित शिक्षकों जैसे श्रमवीरों में आक्रोश है।


महागठबंधन का रहा बेहतर प्रदर्शन


उन्होंने कहा कि आक्रोश इस बात का है, एक तरफ धनबल चल रहा है और दूसरी तरफ जनबल का जोर है। एक तरफ देश के बहुत ही शक्तिशाली प्रधानमंत्री और एक बिहार के मुख्यमंत्री तमाम पूंजीपति मिलकर जोड़-तोड़ से इस 31 साल के नौजवान को रोकने में नाकाम रहे। फिर भी राष्ट्रीय जनता दल को सिंगल लार्जेस्ट पार्टी होने से रोक नहीं पाए और महागठबंधन के सभी साथियों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया।


जनता की आवाज को करेंगे बुलंद


तेजस्वी ने कहा कि अगर जनवरी तक व्यवस्था नहीं सुधरी तो हम लोगबड़ा आंदोलन करेंगे। कुछ लोग कह रहे हैं कि हम लोग रो रहे हैं, लेकिन हम लोग रोने वाले नहीं संघर्ष करने वाले लोग हैं। जनता के बीच रहने वाले लोग हैं, और सबको साथ लेकर चलते हैं। जहां भी रहेंगे जनता की आवाज को बुलंद तरीके से उठाते रहेंगे।

109 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें

DEDICATED FOR DARBHANGA 

1.32 Million Viewes 

WEEKLY NEWSLETTER 

© 2020 BY DARBHANGA CITY. PROUDLY CREATED WITH NET8.IN