खोज करे
  • DARBHANGA CITY

पंडित को थप्पड़ मारकर चर्चा में आए डीएम को धोना पड़ा पद से हाथ।



त्रिपुरा के अगरतला में एक शादी समारोह में सिंघम की तरह डीएम ने कोरोना की गाइडलाइंस का पालन नही करने पर शादी को रूकवा दिया। बता दें कि सिर्फ इतना ही नहीं डीएम शैलेश यादव ने पंडित जी को थप्पड़ मारा और दूल्हे को धक्का मारकर बाहर निकाल दिया। वहीं शादी में शरीक हुए मेहमानों के साथ अभद्र व्यवहार भी किया। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ। इस वीडियो के वायरल होने के बाद प्रशासन एवं सरकार पर डीएम को पद से हटाने का दबाव बना हुआ था।


एक शख्स को गिरफ्तारी की भी मिली थी धमकी

मामले के बारे में विस्तार से बता दें कि डीएम साहब शहर में कोरोना गाइडलाइन के नियमों का लोग किस तरह पालन कर रहे हैं, ये देखने निकले। इसी दौरान पाया कि एक मैरिज हॉल में रात के 11.30 बजे काफी संख्या में लोग जमा थे, और शादी समारोह बड़ी धूमधाम से चल रहा था। यह देख डीएम शैलेश यादव का गुस्सा सातवें आसमान पर जा पहुंचा। पंडित जी को थप्पड़ मारने के साथ उनके साथ आए पुलिसकर्मियों ने मेहमानों पर डंडे बरसाने लगे। परिजनों ने शादी का लाइसेंस भी दिखाया, जिसे डीएम ने फाड़ दिया। बात करने वाले एक शख्स को गिरफ्तार करने की धमकी तक दे डाली।


देशभर में डीएम की किरकिरी



डीएम के इस अभद्र व्यवहार को लेकर स्थानीय लोग एवं भाजपा के विधायक ने शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद फिर पांच विधायकों ने एक पत्र के जरिए सरकार से डीएम को पदमुक्त करने की मांग की। वहीं मांग पूरी करने के लिए विधायक धरना पर भी बैठे थे। देशभर में डीएम की बुजुर्ग पंडित को थप्पड़ मारने के लिए किरकिरी हो रही थी। विवाद को लेकर डीएम ने माफी मांगी। इस घटना के बाद डीएम शैलेश यादव ने खुद को निष्पक्ष जांच के लिए डीएम के प्रभार से मुक्त करने का अनुरोध किया था, जिसके बाद मुख्य सचिव ने उनके पत्र को स्वीकार कर जिला मजिस्ट्रेट के पद से मुक्त कर दिया।

1556 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें