खोज करे
  • DARBHANGA CITY

कश्मीरी पंडितों को लेकर ब्रिटेन की संसद में पेश हुआ प्रस्ताव।

अपने ही देश भारत में पालायन के मजबूर किये गये कश्मीरी पंडितों से संवेदना जताने के लिए ब्रिटेन की संसद में सोमवार को सत्तारूढ़ पार्टी के सांसद बॉब ब्लैकमैन ने एक प्रस्ताव पेश किया। हाउस ऑफ कॉमंस में लाए गए 'अर्ली डे मोशन' में इस्लामिक जिहाद का शिकार बने और 30 साल पहले जम्मू-कश्मीर से पलायन करने को मजबूर हुए कश्मीरी पंडितों के परिवारों के प्रति सहानुभूति जताई गई है।


नरसंहार' की श्रेणी में रखने की मांग




हाउस ऑफ कॉमंस में लाए गए प्रस्ताव के तहत कश्मीरी पंडितों के सामूहिक पलायन को 'नरसंहार' की श्रेणी में रखने की मांग की गई है। हाउस ऑफ कॉमंस में पेश इस प्रस्ताव को डेमोक्रेटिक यूनियनिस्ट पार्टी के सांसद जिम शैनॉन और लेबर पार्टी के सांसद वीरेंद्र शर्मा का भी समर्थन मिला। बताते चलें कि ब्रिटिश सांसद बॉब ब्लैकमैन कश्मीर को लेकर काफी मुखर रहे है, उन्होंने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने का भी समर्थन किया था। फिलहाल प्रस्ताव में भारत सरकार से अपील की गई है कि संयुक्त राष्ट्र में नरसंहार अपराध रोकने के लिए हुए समझौते का हस्ताक्षरकर्ता होने के नाते भारत अंतरराष्ट्रीय दायित्व निभाए। इसके साथ ही भारत को नरसंहार को लेकर अलग से कानून बनाए जाने का भी अपील की गयी है।

2 व्यूज0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें